कोरोना / देशभक्ति / सुविचार / प्रेम / प्रेरक / माँ / स्त्री / जीवन

हर सम्त इन हर एक पल में शामिल है तू (शेर) Editior's Choice

हर सम्त इन हर एक पल में शामिल है तू,
हर गीत मेरी हर ग़ज़ल में शामिल है तू।


अमित राज श्रीवास्तव 'अर्श'
सृजन तिथि : 17 अक्टूबर, 2021
अरकान : मफ़ऊलु फ़ाईलुन फ़अल फ़ाईलुन फ़अल
तक़ती : 221 222 12 222 12
            

रचनाएँ खोजें

रचनाएँ खोजने के लिए नीचे दी गई बॉक्स में हिन्दी में लिखें और "खोजें" बटन पर क्लिक करें