कोरोना / देशभक्ति / सुविचार / प्रेम / प्रेरक / माँ / स्त्री / जीवन

आओ मिल कर पेड़ लगाएँ (कविता)

आओं सभी मिल कर पेड़ लगाएँ,
पर्यावरण को साफ़ स्वच्छ बनाएँ।
पेड़ो से ही मिलती है ऑक्सीजन,
जिससे जीवित है जीव और जन।।

पढ़ा है मैने पर्यावरण एवं विज्ञान,
वृक्षों के बिना नही कोई मुस्कान।
आओ मिलकर लगाओ सब वृक्ष,
अब यही रखना सभी एक लक्ष्य।।

समानता सबके साथ यह रखता,
हवा फल फूल गोंद मेवे यह देता।
बदले में किसी से कुछ नही लेता,
अपना सर्वस्व सभी को लुटा देता।।

कोई प्रकृति से ना करो छेड़छाड़,
इससे करो अपनो के जैसा प्यार।
सब परिणाम देख रहे हो इसबार,
अब तो बन जाओ सब समझदार।।

छाया आज भू-मण्डल पर क़हर,
ऑक्सीजन बिना लोग रहे है मर।
देख रहे हो कैसा है सब का हाल
इसलिए वृक्षारोपण करे हर हाल।।


गणपत लाल उदय
सृजन तिथि : 2021
            

रचनाएँ खोजें

रचनाएँ खोजने के लिए नीचे दी गई बॉक्स में हिन्दी में लिखें और "खोजें" बटन पर क्लिक करें